कलासे जुडे कलाकारनकि सरकारसे अन्देखि , कुमाऊँ लोक कलाकार द्वार ज्ञापन पत्र

कलासे जुडे कलाकारनकि सरकारसे अन्देखि , कुमाऊँ लोक कलाकार द्वार ज्ञापन पत्र

धनगढी ,११ असार ।

कुमाऊँ लोक कलाकार महासंगठन द्वारा विश्व कोबिड १९ से लकडाउकि कारण कलामे जुडे कलाकारन कि उपर अनदेखि हुइरहो हए । कला कोइफिर संस्कृति कि पहिचान कारात हए । दुःख कि बात जा हए आज संस्कृतिके क्षेत्रमे जुडे कलाकारन कि अवस्था बहुत नजुक हए । कोबिड १९ कि महामरी कि कारणसे कलाकार एव कला क्षेत्रमे जुडे सबय कलाकारन के उपर आर्थिक संकट मडरारहो हए । संस्कृति कार्यक्रम दिखाइके अपन जनजीविका चलानबाले एसे कलाकार ९० दिनसे जद्घि समय बेरोजगार बैठे बाताइ थारु संस्कृति उत्तराखण्डके अध्यक्ष बन्टी राना ।
विगत बहुत बर्षसे अपन संस्कृति बचान उद्देश्उसे जा क्षेत्रमे लागेहए । स्थानिय मेला , महोत्सब औ देश प्रदेशमे फिर उत्तराखण्ड कि प्रतिनिधित्व करत आएरहे हए बताइ अध्यक्ष राना । जा विषयमे पटक पटक सरकारमे जानकारी करात आएरहे हए हिनातक कि प्रदेश मुख्यमन्त्रिके तक जानकारी करात आएहए । पर ९० दिनसे जद्वि समयसे बेरोजगार बैठे कलाकारनके उपर अभयतक कोइ सुनबाइ नहुरहि हए । हरेकके ताँहि सरकार अलग अलग गइडलान बनाइके दइ हए पर कलाके धनि कलाकारनके ताँहि न त कोइ गाइडलान नत कोइ सुनबाइ , कलाकार करए त कारए अपन परिवारके ताँहि । घरमे ४।५ जनीको परिवार हए सबके लालनपालन ताँहि पैसा चहात हए , कलाकरान कि सुरक्षके ताहि कुमाऊँ लोक कलाकार महासंगठन द्वारा माग पत्र प्रस्तुत करोगऔ हए बताइ अध्यक्ष राना ।

विज्ञापन