देवहरिया गाँवकि महिला व्यवसायिक बकरीया पालन घेन

देवहरिया गाँवकि महिला व्यवसायिक बकरीया पालन घेन

धनगढी,१८ सामन ।

कैलालीक धनगढी उपमहानगर पालिका वडा नं. ७ देवहरिया गाँवकि रानाथारु महिला व्यवसायिक बकरिया पालन घेन मन करिहएँ । देवहरिया गाँवमे करिब ८० घरधुरी रानाथारु परिवारकी हएँ बिनमैसे ३० परिवार बकरिया पालत हएँ । हरेक परिवारमे कम्तिमे २ से ६ बकरिया हएँ ।

बकरिया पालनसे घरव्यहार चलान सजिलो भओ हए कहिके बताइ स्थानिय महिला सुखि रानाथारु । “बकरा बकरीया बेचके बच्चनके पढानलिखान सहज भओ कहिके बताइ । पहिले सामुदायिक वन संरक्षणसे अपन पेशामे कमि आओ रहए । अभय चरिचरनमे कुछ सहज होनसे हमर अपन पुरानो पेशा बकरिया पालन घेन अग्रसरता दिखानो हए ।”,

महिलनकी सम्पति कहाओ या कुर्चा कहाऔ मुरगी बकरिया बेचके आओ भओ पैसा त हएँ । अन्य जातकी महिला गइयाँ भैसिया पालके दुध बेचलेत हए पर हम उन हानी ना करपात हए । घरको कामसे फुरसद ना निकारपात हए और मुरगि,बकरिया पहिलेसे पालत आएरहे हएँ तहिक मारे हमय सहज लागत हए । बर्षमे एक दूई बकरा बेचन पाइगए कहेसे बच्चनके पढान लिखान सहज हुइजात हए बताइ दुसरी महिला छविला राना ।

संघ , प्रदेश और स्थानिय सरकारकी आर्थिक सहयोग विना बकरिया पालत अएरहे हएँ । सरकार हमके कोइ सहयोग या अनुदान ना दइहए हम दिदीबहिनियँ अपनय ऋण जुगाड करके बकरिया खरिदे हए बकरेहरी मैसे एक जनी बताइ ।

विज्ञापन