सम्पुर्ण जनमानसमा रानाथारु डटकमको तर्फबाट विजय दशमी तथा शुभ दिपावलीको हार्दिक मंगलमय शुभकामना ।

चन्दनचौकी थारुक्षेत्रके थरुवा मनाइ विश्वाआदिवासी दिवस

चन्दनचौकी थारुक्षेत्रके थरुवा मनाइ विश्वाआदिवासी दिवस

कैलाली २४ सामन । चन्दनचौकी थारुक्षेत्र जिला लखिमपुर खिरी उत्तरप्रदेश भारतके थरुवा, २८औँ विश्वाआदिवासी दिवस मनाइहए । मंगरबारके रोज थारु जनकल्यण मञ्चसे आयोजित कार्यक्रम संस्थाके अध्यक्ष छैलविहारी रानाके सभापतित्वमे सम्पन्न भओ हए ।

कार्यक्रममे प्रमुख पहुना भोजराज राना रहए विशिष्ट पहुना नेपाल रानाथारु समाजके केन्द्रीय अध्यक्ष कृपाराम राना, शिशु विद्यामन्दीरके अध्यक्ष फुलसिंह राना, एडिओ सेवा निर्वित समाज कल्याण खिरीके बलविर सिह, महामहिम राष्ट्रपतिसे सम्मानित आरती राना, प्रधान संघके अध्यक्ष रामनरेश राना, थारु जनकल्यण मञ्चके उपाध्यक्ष ओमप्रकाश राना महामन्त्री रामचन्द्र राना, लगायतको उपस्थित रहए ।


कार्यक्रममे बक्तालोग विश्वाआदिवासी दिवसकी हार्दिक शुभकामना दइरहएँ । भारत तथा नेपालमे सदियौसे रानाथारु आदिवासीके रुपमे बैठत आएरहे हए तहु अभय अपन पानिय अधिकारसे बन्चित हए । गैर आदिवासीलोग भाइ फुटाओ अभियानमे लागेपडेहए जासे हम थप अधिकारसे बन्चित होन पडरहोहए । उत्तरप्रदेश भारत मे १२ अनुसुचि जनजातिमे सुचिकृत हए अब सबके एकता हुइके अग्गु बढन हए और राज्यसे पानबालो सुविधाकी माग करनपडो बताइ प्रमुख पहुना भोजराज राना ।


नेपाल सरकार गौ साल २०७८ माघ २० गते रानाथारु जातिके ६०औँ नम्बरमे आदिवासी जनजातिक सुचिमेसुचिकृत करिहए । आदिवासीको पहिलो अधिकार कहनसे जल,जंगल और जमिनमे अग्रअधिार होन हए पर राज्यसत्ताधारी लोग जे अधिकारसे हमके बन्चित कराएहए, इतका इकल्लो नए हमर पानिय सेवासुविधा फिर कटौटी करन पच्छु नपडे कहनिय नहए । जहे उत्तरप्रदेश सरकारकी बात करए लोक सभा औ प्रदेश सभामे राजनितिमे आरक्षणको व्यवस्था कहाँ हए त ? थारुक्षेत्रके विकास करन हए कहेसे राजनितिमे आरक्षणको व्यवस्था करनरहए, जैसेकी उत्तराखण्ड भारतमे प्रदेश सभामे एक जनि थारुवक अरक्षण सिट दएगौहए कहिके जानकारी दइहए ।


थारु जनकल्यण मञ्चके उपाध्यक्ष ओमप्रकाश राना कहि आज हम पढलिखके बढीयासे बढिया ओहदामे पुगे हए और अपन जन्मो भौ ठाउके भुलगए । कबहि कभा पिक्नीक मनान घर आतहए न कोइसे मसकाबोली नकोइसे सरसल्लहा तहिक मारे हमर समाज पिछड रहोहएँ । भइया भइयक टाँग पकडके ताननमे लगेहएँ । आज हम जित्तो पढलिख जामए पर अपन गाउठाउँको माया सबके लगत हए । अपन भाषा संस्कृति छोडके दुसरेक संस्कृति अगोरन जात हए कित्तो न्यायोचित हए , आज जौन आरक्षण पाएरहे हए और इनहिक ( भाषा, संस्कृति और धर्म) छोडत जानो उचित नाहए बताइ ।


संस्थाके महामन्त्रि रामचन्द्र राना संस्थाक संगठनिक बारेम जानकारी दइरहए और संस्थामे अभए तकको आयव्याय १ लाख ३४ हजार बराबारको हिसाब सुनाइरहएँ । कार्यक्रमके स‌चालन सुनिल कुमार राना करिरहए ।

विज्ञापन

Shiv-shambho

Official Music Video